janhittimes

इनवर्टिस यूनिवर्सिटी में मनाया गया 8वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस… दिया ये संदेश

8वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर इनवर्टिस यूनिवर्सिटी ने योग कार्यक्रम का आयोजन किया। इस अवसर पर इनवर्टिस यूनिवर्सिटी के चांसलर डॉ. उमेश गौतम ने कहा कि, योग हमारी प्राचिनतम् संस्कृति है। इसका रोजाना जीवन में अभ्यास हमें मानसिक और शारीरिक विकारों से दूर स्वास्थ्य जीवन के पथ पर ले जाता है।

इनवर्टिस यूनिवर्सिटी में मनाया गया 8वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस... दिया ये संदेश

आपको बता दें कि, जब देश में कोरोना महामारी की पहली लहर आई थी तो, इनवर्टिस विश्वविद्यालय ने ‘वर्चूअल’ माध्यम का सहारा लेते हुए, इस महामारी के प्रभाव से निपटने और छात्रों को कोविड-19 के प्रभाव से बचाने के लिए, कई योग वेबिनार आयोजित किए। वहीं, इनवर्टिस विश्वविद्यालय के चांसलर ने युवाओं के लिए योग की आवश्यकता पर प्रकाश डालते हुए कहा, “योग छात्रों को अत्यधिक लाभान्वित कर सकता है, क्योंकि इससे उन्हें अपने शैक्षणिक और व्यक्तिगत जीवन को संतुलित करने में जरुर ही मदद मिलेगी। बीकेएस अयंगर और बाबा रामदेव जैसे योग गुरुओं ने सभी को जीवन में योगिक मिश्रण का मार्ग दिखाया है।

इनवर्टिस विश्वविद्यालय में हम न केवल अकादमिक रूप से छात्रों का पोषण करते हैं, बल्कि उद्योग और व्यवसाय के लिए एक लिडर को भी तैयार करके उनके समग्र विकास पर ध्यान केंद्रित करते हैं। इस पूरे समय में योग एक निर्णायक भूमिका निभाता है।”

बता दें, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर जीवन में योग की महत्वपूर्ण भूमिका कि बात करते हुए इनवर्टिस यूनिवर्सिटी के छात्रा परम्परा, बीबीए, पहला वर्ष ने कहा, ” योग हमारे जीवन में बहुत जरूरी है। कोरोना काल से योग की महत्वा हमारे जीवन में काफी बढ़ी है। इस दौरान हमारे विश्वविद्यालय ने भी हम सभी को योग सिखाया।

इनवर्टिस यूनिवर्सिटी की छात्रा नौरीन कुरैशी, बीबीए 2 वर्ष ने माना की अगर आपको शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य रहना है तो इसके लिए आपको योग को अपने जीवन में उतार लेना चाहिए। इसे प्रतिदिन अपने जीवन का हिस्सा बनाएं और स्वास्थ्य रहें।

By : News Desk

Web Stories

Related News