janhittimes

नुपूर शर्मा पर जहरीले Reels, मरने-मारने की बातें…. इस जहर का इलाज क्या ?

भाई ये भारत है, जहां संविधान ने आपको पूरी आजादी दी है। आप बिना रोक टोक के कहीं आ जा सकते हैं। यहां तक की आप अपनी बात आसानी से सभी के सामने रख भी सकते हैं। किसी पर टिप्पणी कर सकते हैं… तो आप बेहिचक किसी का विरोध भी कर सकते हैं। आंदोलन भी कर सकते हैं। लेकिन पिछले 2 सप्ताह से देश में कुछ ऐसा हुआ जो कुछ हमने आपने देखा सवाल तो यही बनता है… क्या विरोध का ये तरीक़ा जायज़ है?या आपकी क़ौम.. या भारतीय संविधान इस तरह के विरोध की इजाज़त देता है?

 

हम बात कर रहे हैं बीजेपी की पुर्व प्रवक्ता नुपूर शर्मा की, ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग के लगातार अपमान के बाद…. नुपूर शर्मा द्वारा ऑन टीवी पैगंबर मोहम्मद पर किए गए सवाल से…. कट्टरपंथी हर जगह भड़के हुए हैं। कट्टरपंथियों द्वारा सड़क से सोशल मीडिया तक संग्राम का ऐसा नमूना पेश किया गया। जो वाक़ई शर्मनाक है।

नुपूर शर्मा को मारने के लिए चर्चा सोशल मीडिया पर खुले आम हो रही है। पहला वीडियो जम्मू-कश्मीर के एक यूट्यूबर फैसल वानी का है। फैसल वानी ने ग्राफ़िक के जरिए नुपूर शर्मा का सिर काटते हुए वीडियो भी दिखा दी। वीडियो वायरल होने के बाद जब लोगों ने फैसल का विरोध करना शुरू किया। तो फैसल को अपने फ़ैसले पर पछतावा होने लगा। उन्होंने वीडियो तो डिलीट कर दिया… लेकिन सलाख़ों के पीछे पहुंच गए।

अब आपको दूसरे वीडियो की बात बताते हैं। इस वीडियो में देख सकते हैं कि…. कैसे तीन युवक खुलेआम नुपूर शर्मा की हत्या की बात बेखौफ कर रहे हैं। इन युवकों की उम्र ज्यादा नहीं है। लेकिन रील्स में ये कहते सुनाई पड़ते हैं, “जिसने नबी की शान में गुस्ताखी की है… कानून का काम है उसे फाँसी देना और अगर हम इंसाफ पर उतर आए तो हमें आतंकवादी मत कहना…”

तो वहीं, एक अन्य वीडियो में महिला चिल्लाते हुए दिखती है और मरने की बात कहती है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में महिला बोलती है, “मैं मरने के लिए तैयार हूँ, मेरी बच्ची मरने के लिए तैयार है…. मुझे कोई फर्क नहीं है…. ला इलाहा इल इल्लाह…. अल्लाह-हू-अकबर… ” इसके बाद वो वीडियो में ‘वो नबी हैं…. वो नबी हैं….’ कहकर चिल्लाने लगती है।

इसी तरह कई अलग अलग पोस्ट में नुपूर शर्मा की फोटो पर क्रॉस का चिह्न लगाकर उन्हें मारने की अपील की जा रही है। कथित तौर पर बिहार से वायरल हो रहे हैदर अली नाम के यूजर की वीडियो सामने आई है। वीडियो में वह भीड़ के प्रदर्शन को दिखाकर यह कहता नजर आ रहा है दुनिया देख ले मुस्लिम अपने पैगंबर से कितना प्यार करते हैं।

सोशल मीडिया पर इस तरह के हज़ारों लाखों वीडियो वायरल हो रहे हैं। एक अन्य वीडियो में मुस्लिम बच्चों को नूपुर शर्मा की तस्वीर पर पेशाब करते हुए देखा जा सकता है। वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे ये मुस्लिम बच्चे हंसते और ठहाके लगाते हुए नूपुर शर्मा की तस्वीर पर पेशाब कर रहे।

एक वीडियो में नूपुर शर्मा की तस्वीर पर उनके चेहरे के सामने फांसी का फंदा बना हुआ देखा जा सकता है। साथ ही उनकी तस्वीर पर क्रॉस का निशान भी लगा हुआ है। इस दौरान आसपास मौजूद लोग उन बच्चों को उत्साहित करते हुए सुनाई देते हैं। और सब हंसी-ठहाके लगाते रहते हैं। हालांकि, फ़िलहाल ये स्पष्ट नहीं है कि ये वीडियो किस इलाके का है।

खैर… विवादित बयान के बाद पार्टी और पुलिस संविधान के दायरे में रहते हुए नुपूर पर कार्रवाई भी की… उनको पार्टी से निष्कासित किया गया। पुलिस ने एफआईआर दर्ज करके मामले की विवेचना कर रही है। लेकिन इन सब पोस्ट देखने के बाद मन में एक सवाल जन्म ले रहा है कि…. विरोध के नाम पर ये कैसा प्रदर्शन, क्या आप ऐसे विरोध को स्वीकार करते है…? किसी महिला के सिर पर इनाम, गला काटने पर इनाम, जीभ काटने पर इनाम… क्या यही हमारा भारत है।

By : News Desk

Web Stories

Related News