janhittimes

Bhool Bhulaiyaa 2 या Dhaakad कौन सी मूवी है पैसा वसूल? जानें

आज का दिन बॉलीवुड इंडस्ट्री के लिए काफी इम्पोर्टेन्ट है क्यूंकि आज मई मंथ की दो मोस्ट अवेटेड फिल्म कार्तिक आर्यन की भूल भुलैया 2 और कंगना रनौत की धाकड़ रिलीज़ हुई है। अब देखना ये है कि, कौन सी मूवी बेस्ट है… कौन सी देखनी चाहिए। इन सवालों के जवाब के लिए बस थोड़ा सा इंतजार कीजिए।

Bhool Bhulaiyaa 2 या Dhaakad

भूल भुलैया 2

एक पुरानी हवेली, जिसके बड़े और नक्काशीदार कमरों में से एक में कैद है एक ऐसी औरत कि आत्मा जिसका जीते जी बस एक मकसद था बदला… मगर, 18 साल पहले उसको तंत्र-मंत्र कि शक्ति से लाल धागों के जाल में कैद कर दिया गया था। मगर, एक झूठ को छुपाने के लिए एक छिपे हुए सच का कमरा खोल दिया गया, और कमरे से बाहर आ गया सालों साल से छिपा एक हैरतंगेज़ सच…

अमी जे तोमर से जब श्रेया घोशल की आवाज कानों में गूंजती है और साथ ही ब्लू ब्लैक कॉम्बिनेशन में भूल भुलैया के सेट का नजारा दीखता है। तो अपने आप ही एक्ससिटेमेंट बढ़ जाती है। वैसे इस फिल्‍म के सीक्‍वेल अनाउंसमेंट के बाद से ही कार्तिक और अक्षय कुमार में कपरिसों होने लगा था। लेकिन फिल्‍म देखने के बाद साफ है कि इस नए फ्लेवर की कहानी के लिए कार्तिक आर्यन की एंट्री जस्टिफाई है। कार्तिक ने अपना काम बखूबी किया है। हालांकि क‍ियारा के लिए बहुत कुछ करने के लिए था नहीं क्‍योंकि ये फिल्‍म तब्बू की है। इस भूल भुलैया में भी तब्‍बू एक्टिंग के मामले में कहीं भटकती या बहती नहीं नजर आई हैं।

तो वहीं कॉमेडी का काम राजपाल यादव, कार्तिक आर्यन और संजय म‍िश्रा ने संभाला है और बखूबी संभाला है। फिल्‍म के ज्‍यादातार डायलॉग हंसाते-हंसाते डराने वाला फंडा इस फिल्‍म में आपको खूब नजर आएगा। म्यूजिक की बात करे तो इस बार अमी जब तोमार आपको अरिजीत सिंह की आवाज में मेल वौइस् में भी सुनने को मिलेगा जो की फिल्म में बने रहने के लिए आपकी एक्ससिटेमेंट लेवल को और ऊपर पहुंचा देगा। बाकि टाइटल ट्रैक पिछली बार की तरह इस बार भी ग्रूव्य है।

ओवरआल ये एक फैमली एंटरटेनर है और आप पूरी फैमली के साथ इस फिल्‍म का मजा ले सकते हैं।

धाकड़

कंगना रनौत को आप पंसद करें या नापसंद करें, लेकिन एक बात को माननी पड़ी कि एक्ट्रेस कमाल की है और ये बात एक फिर से साबित हो गई है। कंगना की धाकड़ फिल्म, क्या आपको देखनी चाहिए। क्या है फिल्म की अच्छी और खराब बातें। आपको इस रिव्यू में बताते हैं।

फिल्म की कहानी ट्रेलर से ही साफ हो गई थी कि कंगना एजेंट अग्नि नाम के किरदार में हैं और वो एक मिशन को पूरा करेंगी और मिशन और होगा अर्जुन रामपाल और दिव्या दत्ता के काले साम्राज्य को खत्म करना। कहानी यही है कि किस तरह से एजेंट अग्नि इस मिशन को अंजाम देती है और इस दौरान क्या क्या खुलासे होते हैं।

कंगना जब गुंडों को पीटती हैं तो बड़ा मजा आता है। अक्सर हम हीरोज को ऐसा एक्शन करते देखते हैं, लेकिन एक हीरोइन को इस तरह का एक्शन करते देखने का मजा अलग ही है। कंगना फिल्म में कई लुक चेंज करती हैं और हर लुक में कमाल लगती हैं। कंगना ने एक्शन सीन्स पर खूब मेहनत की है और ये दिखता है कंगना वाकई में धाकड़ लगती हैं।

अर्जुन रामपाल की एक्टिंग बहुत जबरदस्त है। एक ऐसा विलेन जिससे आपको नफरत होने लगती है। अर्जुन भी कई लुक बदलते हैं हर बार और खौफनाक लगते हैं। दिव्या दत्ता नेगेटिव रोल में खूब जमी हैं। फिल्म का सबसे बड़ा दुश्मन है उसका स्क्रीनप्ले। जो काफी ढीला है। कमाल की परफॉर्मेंस के बीच आपको कई बार समझ नहीं आता कि फिल्म में क्या चल रहा है। फिल्म अपने ट्रैक से भटकती लगती है। कहानी और स्क्रीनप्ले और बेहतर किया जा सकता था और ऐसा होता तो फिल्म और बेहतर होती। अगर कंगना के फैन हैं तो ये फिल्म जरूर देखिए। कंगना आपका दिल जीत लेंगी।

By : News Desk

Web Stories

Related News