janhittimes

नोएडा से जुड़े मोहाली आतंकी हमले के तार, Punjab-UP पुलिस के बीच बढ़ी तकरार

नोएडा (NOIDA) से बड़ी खबर यह सामने आ रही है कि 6 मई 2022 को पंजाब (Punjab Police) के मोहाली में एक बम ब्लास्ट हुआ था इस मामले में पंजाब पुलिस ने नोएडा में बड़ी कार्रवाई की है ऐसा लग रहा है उस बम ब्लास्ट के तार नोएडा से जुड़े हैं। बता दें, पंजाब पुलिस ने सेक्टर-16 की जेजे कॉलोनी में दबिश देकर दो संदिग्धों को हिरासत में लेकर चली गई।

जानकारी के अनुसार, दोनों ही युवक बिहार के अररिया के रहने वाले है। ये नोएडा की सेक्टर-16 की जेजे कालोनी में रह रहे थे। पंजाब पुलिस के मुताबिक, यह दोनों युवक इंटेलिजेंस हेड क्वार्टर पर बम ब्लास्ट करने वाले फरार चल रहे युवकों के संपर्क में थे। इसकी जानकारी काल डिटेल के आधार पर मिली थी। वहीं नोएडा से दोनों युवकों को उठाए जाने के बाद यूपी पुलिस में भी हड़कंप मच गया।

Punjab-UP

दोनों ही युवक ब्लास्ट करने वाले आरोपितों के रिश्तेदार बताए जा रहे हैं। ऐसे में पुलिस को आशंका है कि दोनों के संबंध पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ से हो सकते हैं। हालांकि आइएसआइ के एजेंट होने और न होने की बात अभी तक सिर्फ अटकलों तक सीमित है।

युवकों को हिरासत में लिए जाने के बाद करीबी भी मामले को लेकर चुप्पी साधे हुए हैं। बिहार के अररिया के कई मुस्लिम युवकों का पाकिस्तानी कनेक्शन पूर्व में उजागर हो चुका है। इनमें से ज्यादातर बांग्लादेशी हैं। ऐसे में यूपी और पंजाब के अलावा बिहार पुलिस भी इस मामले पर पैनी नजर बनाए हुए है।

सूत्रों के मुताबिक, हाल ही में मोहाली ब्लास्ट के मामले में छह लोगों की गिरफ्तारी हुई है। दोनों युवकों का आरोपितों से संपर्क होने की बात कही जा रही है। आशंका है कि यह युवक भी कहीं न कहीं उन दोनों हमलावरों की नेटवर्क में आ चुके हों और नोएडा में बेस तैयार करने की तैयारी में हों। सेक्टर-16 से पकड़े जाने के बाद अब नोएडा की एलआईयू भी उनके बारे में जानकारी जुटा रही है।

नोएडा के एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि शनिवार को पंजाब पुलिस नोएडा पहुंची। इसकी जानकारी पंजाब पुलिस की स्पेशल टीम ने उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टीम को दी थी। पंजाब पुलिस ने नोएडा के सेक्टर-16 से दो आरोपितों को हिरासत में लिया है और पूछताछ के लिए अपने राज्य लेकर गई है।

फैक्ट्री की मालकिन ने बताया कि दोनों युवकों ने बीते 15 दिन से अवकाश नहीं लिया है। फैक्ट्री की मालकिन के मुताबिक वह वर्क आर्डर पर काम करती हैं। मोहम्मद नसीम और सरफराज दोनों एक पुराने कर्मचारी के जरिए नौकरी पर रखे गए थे। दोनों ने नौकरी शुरू करने के पहले अपना पहचान पत्र भी कंपनी को दिया था।

By : News Desk

Web Stories

Related News

Also Read