janhittimes

मानव रचना उत्कृष्टता पुरस्कार: राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने किया दिग्गजों को सम्मान

मानव रचना उत्कृष्टता पुरस्कार (MREA 2022) का छठा संस्करण राजीव चंद्रशेखर, राज्य मंत्री – कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार की उपस्थिति में मानव रचना के परिसर में संपूर्ण हुआ। बता दें कि शिक्षा में उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के लिए लगातार काम करने वाले मानव रचना के दूरदर्शी संस्थापक डॉ ओपी भल्ला की समृद्ध विरासत को आगे बढ़ाने के लिए अप्रैल 2017 में मानव रचना उत्कृष्टता पुरस्कार की स्थापना की गई थी।

मानव रचना उत्कृष्टता पुरस्कार

कार्यक्रम के दौरान मुख्यअतिथि के साथ साथ MREA 2022 राजीव चंद्रशेखर; डॉ प्रशांत भल्ला- अध्यक्ष, MREI; डॉ अमित भल्ला – उपाध्यक्ष, MREI; डॉ. संजय श्रीवास्तव – एमडी, MREI; डॉ एन सी वाधवा – डीजी, MREI; लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. आर.के. आनंद, डीजी, MRIIRS; डॉ. आई के भट, वीसी, एमआरयू; एच के बत्रा, अध्यक्ष, परफेक्ट ब्रेड्स; और उद्योग के दिग्गजों की हाथों से 13 लोगों को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम की शुरूत में डॉ. संजय श्रीवास्तव, एमडी, मानव रचना शिक्षण संस्थान और वीसी, MRIIRS ने मानव रचना उत्कृष्टता पुरस्कार 2022 का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि ये पुरस्कार हमारे संस्थापक के सपने का प्रमाण हैं और हर साल, इसमें नई श्रेणियां जोड़ी जा रही हैं।

मानव रचना उत्कृष्टता पुरस्कार

सम्मानित हुए सभी को बधाई देते हुए, डॉ. प्रशांत भल्ला ने कहा, “मानव रचना प्रतिष्ठित उत्कृष्टता पुरस्कारों की सहायता से हर साल ऐसे चैंपियंस की विनम्रता और विशिष्टता को सलाम करता है। उत्कृष्टता पुरस्कार विभिन्न डोमेन से उपलब्धि हासिल करने वालों की सराहना करने के लिए शुरू किए गए थे, जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्रों में क्रांतिकारी परिवर्तन लाए हैं और अपनी एक प्रमुख पहचान बनाई है।

विस्तार और नवाचार का नेतृत्व युवाओं द्वारा किया जाएगा

पुरस्कार विजेताओं को प्रतिष्ठित एमआरईए 2022 प्रदान करने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए राजीव चंद्रशेखर जी ने कहा, “अगले 25 साल भारत के युवाओं के होंगे और हमारी आर्थिक प्रगति, विस्तार और नवाचार का नेतृत्व युवाओं द्वारा किया जाएगा।” उन्होंने आगे कहा, “राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2022 के बाद अब पूरा ध्यान छात्रों के संदर्भ में न केवल ज्ञान प्राप्त करने पर है, बल्कि योग्यता और कौशल प्राप्त करने पर भी है; बल्कि व्यावसायिक शिक्षा और कौशल को भी अब पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है। और इससे हमें वैश्विक क्षेत्र में अपने युवाओं के उत्थान के अपने मिशन में सफल होने में मदद मिलेगी।”

रियल लाइफ मैनेजमेंट केस स्टडीज किताब का विमोचन
इसके बाद प्रो. (डॉ.) अमित सेठ, प्रोफेसर, फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, एमआरआईआईआरएस और सीएस (डॉ.) मोनिका गोयल, प्रोफेसर, वाणिज्य संकाय, एमआरआईआईआरएस द्वारा लिखित किताब ‘रियल लाइफ मैनेजमेंट केस स्टडीज: डेवलप्ड इन फैक्टुअल कन्वर्सेशन विद इंडस्ट्री लीडर्स’ का लॉन्च किया गया।

सम्मानित किए गए दिग्गज

-कॉर्पोरेट और उद्योग पुरस्कार: शिव शिवकुमार, समूह निष्पादन, अध्यक्ष- कॉर्पोरेट रणनीति और व्यवसाय विकास, आदित्य बिरला ग्रुप
-स्पोर्ट्स आइकन अवार्ड: रानी रामपाल, भारतीय फील्ड हॉकी खिलाड़ी
-पीपल बिल्डर अवार्ड: के एस बख्शी, ग्रुप हेड- एचआर, इंटरग्लोब एंटरप्राइजेज
-यंग लीडर अवार्ड: चैतन्य पेड्डी, डार्विनबॉक्स में सह-संस्थापक और प्रोडक्ट हेड
-यंग लीडर अवार्ड: रोहित चेन्नामनेनी, डार्विनबॉक्स के सह-संस्थापक
-नेशन बिल्डिंग अवार्ड: अजय पांडे, पूर्व एमडी और ग्रुप सीईओ, गिफ्ट सिटी
-सांस्कृतिक क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए अवार्ड: डॉ सच्चिदानंद जोशी, सदस्य सचिव, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र (आईजीएनसीए), संस्कृति मंत्रालय
-फरीदाबाद इंडस्ट्री आइकॉन अवार्ड: नवदीप चावला, चेयरमैन, एमडी और संस्थापक, साइकोट्रोपिक्स इंडिया लिमिटेड
-डॉ प्रीतम सिंह अवार्ड फॉर अकादमिक एक्सीलेंस: प्रो अविनाश चंद्र पांडे, निदेशक, अंतर-विश्वविद्यालय त्वरक केंद्र
-चेंज मेस्ट्रो अवार्ड: अमित मलिक, सीईओ और एमडी, अवीवा लाइफ इंश्योरेंस कंपनी इंडिया लिमिटेड
-लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड: एस.वी. नाथन, पार्टनर और चीफ टैलेंट ऑफिसर- डेलॉइट इंडिया
-आउटस्टैंडिंग साइंटिस्ट अवार्ड: डॉ जी सतीश रेड्डी, चेयरमैन, रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) और सचिव, रक्षा विभाग, आर एंड डी
-टेक्नोलॉजी ट्रांसफॉर्मेशन अवार्ड: डॉ. विनी जौहरी, लर्निंग एंड स्किल्स लीड, माइक्रोसॉफ्ट इंडिया

By : News Desk

Web Stories

Related News

Also Read