janhittimes

पर्याप्त कोयले के बावजूद देश में क्यों बढ़ रहा बिजली संकट?

बीते कुछ दिनों में देश में बिजली कटौती के काफी मामले सामने आऐ हैं। साथ ही कोयले की कमी से बिजली की मांग तेजी से बढ़ी है। उत्तर में जम्मू-कश्मीर से लेकर दक्षिण में आंध्र प्रदेश तक देश के 18 राज्यों में लोगों को 12-12 घंटों तक बिजली कटौती झेलनी पड़ रही है। बिजली कटौती से नाराज पंजाब के किसानों ने शुक्रवार को अमृतसर में राज्य के बिजली मंत्री हरभजन सिंह के घर के सामने जमकर प्रदर्शन किया।

पंजाब में बिजली संकट और गहरा सकता है। पावरकाम के सामने बिजली की मांग को पूरा करने की चुनौती लगातार बनी हुई है। वहीं दुसरी तरफ कोयला संकट भी बरकरार है। नतीजतन रोजाना बाहर से काफी ज्यादा बिजली खरीदनी पड़ रही है। बुधवार को पावरकाम ने 9784 मेगावाट बिजली सप्लाई की जबकि राज्य में बिजली की मांग 10,392 मेगावाट रही। मांग ज्यादा होने के कारण पावरकाम ने दूसरे राज्यों से 5.96 रुपये प्रति यूनिट की दर से करीब 25 करोड़ रुपये की बिजली खरीदी।

electricity crisis

दूसरी ओर पंजाब के सरकारी और प्राइवेट सेक्टर के पांचों थर्मल प्लांटों में से चार में कोयला स्टाक की स्थिति नाजुक बनी हुई है। इनमें सबसे ज्यादा खराब स्थिति रोपड़ और लहरा मोहब्बत प्लांटों की है। रोपड़ में जहां 4 दिन लायक कोयला बचा है तो वहीं दुसरी ओर लहरा में महज 3 दिन का कोयला है। उधर गोइंदवाल साहिब में भी सिर्फ 4 दिन, तलवंडी साबो में 6.8 दिन लायक कोयला बचा है। इसके चलते राज्य के कई जिलों में पानी की आपूर्ति भी प्रभावित हो रही है।

वहीं लुधियाना में 11केवी संचार कालोनी फीडर से 220 केवी फिरोजपुर रोड में वीरवार सुबह 10 से 3 बजे तक मरम्मत कार्य के कारण बिजली बंद रहेगी। इसके चलते बीआरएस नगर सी,डी,ई ब्लाक्स, संचार कालोनी में सप्लाई बाधित रहेगी। इसके अलावा बाबा ईशर सिंह पब्लिक स्कूल, 11 केवी टैगोर पब्लिक स्कूल फीडर से 220 केवी फिरोजपुर रोड ए ब्लाक अगर नगर, रामबाग, घई कालोनी, एग्रीकल्चर आफिस में 13 मई को बिजली आपूर्ति बाधित रहेगी।

बढ़ती गर्मी के प्रकोप के बीच पावर कट से आम जनता त्रस्त हो चुकी है। अब देखना ये होगा की आम जनता को कब इस समस्या से निजात मिलेगी।

By : News Desk

Web Stories

Related News

Also Read