janhittimes

UP में एक बार फिर बिकरूकांड… CM योगी की पुलिस पर फायरिंग कर छुड़ा ले गए आरोपी

बिकरू कांड के बाद से पुलिस पर हमले लगातार जारी हैं। ऐसा हम नहीं आंकड़े बताते हैं। खबर है, एटा से जहां विकास दुबे के बिकरू गांव जैसा कांड होते-होते बच गया। दरअसल, देर रात पोक्सो एक्ट के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने मिलकर हमला बोल दिया। पुलिस को खेतों में दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया। यही नहीं, पुलिस की जीप में आग लगाने की कोशिश भी हुई। वहीं, पुलिसकर्मियों पर तमंचे से फायरिंग भी की। पुलिस के साथ मारपीट में ग्रामीणों ने आरोपी को पुलिस की हिरासत से छुड़ाकर मौके से फरार करा दिया ।

UP Police

बात की जाए पुलिसकर्मियों के हाल कि, तो पुलिसकर्मी राहुल कुमार ने बताया, “हम लोगों को बताया गया कि नगला जवाहरी में एक पोक्सो का आरोपी पकड़ना है। हम सब मुजरिम पकड़ने गए। गांव पहुंचकर आरोपी को पकड़ भी लिया। हमने जैसे ही आरोपी पकड़ा, वैसे ही वह चिल्लाने लगा। उसकी आवाज सुनकर गांव वाले आ गए और उन्होंने हमारे साथ मारपीट की। ईंट-पत्थर फेंके और आरोपी को छुड़ा ले गए।” पुलिसकर्मी मनोज कुमार ने बताया, “आरोपी को पकड़ने के दौरान गांव में लोग प्रयास कर रहे थे कि पुलिस की गाड़ी में आग लगा दी जाए, लेकिन हमने अपनी गाड़ी को बचाने के लिए काफी प्रयास किया। हमारे हाथों में डंडे मारे गए। हम वहां से भाग छूटे। गांववालों ने हमारा पीछा भी किया। इनमें एक कौशलेंद्र नाम का शख्स भी शामिल था, जो कि समाजवादी पार्टी से विधायकी लड़ने की तैयारी कर रहा है। उसने गांववालों से बोला था कि जितनी पुलिस फोर्स आयी है, उस पर गोली चलाओ।”

ग्रामीण सुदेश यादव का कहना है कि पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने आई थी। आरोपी घर पर नहीं मिला तो पुलिस ने दूसरे घर पर जाकर उसकी तलाश की। रात के वक्त वहां पर लड़कियां सो रही थीं। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने महिला के साथ और लड़की के साथ बदतमीजी की। अब उन्हीं महिलाओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

एसपी क्राइम स्नेहलता ने बताया कि पुलिस टीम पर हुए हमले में 10 नामजद आरोपी हैं और 10-15 अज्ञात हैं। इसमें से तीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी आरोपियों को तलाशा जा रहा है।

By : News Desk

Web Stories

Related News