janhittimes

नारी शक्ति: घूंघट में रहने वाली शहीद की पत्नी ने पहनी वर्दी, ससुर बोले- जो बेटा न कर सका, वो बहू करेगी

वो दिन था सर्दियों का… और तारिख थी,13 जनवरी 2019 । मैं मेरे डेढ़ साल के बेटे और साढ़े तीन साल की बेटी के साथ खेल रही थी। क्या पता था वो दिन मेरे जीवन को बदल देगा। और में क्या से क्या हो जाऊंगी। सच कहुं तो इस दिन को में कभी भुल नहीं पाऊंगी। इस दिन मेरे पति की बालाघाट के लांजी थाने के विधानसभा अध्यक्ष के फॉलो व्हीकल में ड्यूटी लगी थी। अचानक एक ट्रक ने उनके वाहन को टक्कर मार दी। और मेरे पति और अन्य तीन पुलिसकर्मी शहीद हो गए।

नारी शक्ति

खबर सुनते ही मेरे पैरों तले जमीन खीसक गई थी। मेरी सांस चल रही थी..पर मैं जिंदा नहीं थी। मेरी गोद में 2 मासूम अपने पैरों पर खड़े होने की तैयांरी कर रहे थे..ऐसे में हमारे सर पर पहाड़ का टूट जाना एक सदमें से कम नहीं था। तो वहीं मुझे अनुकंपा नियुक्ति मिली तो मुझे लगा कि पुलिस की ड्यूटी मैं कैसे कर पाऊंगी। लेकिन मेरे ससुर और पिताजी ने मुझे हिम्मत दी.. और मेरा हौसला बढ़ाया। मेरे ससुर ने कहा था कि मेरा बेटा जो नहीं कर पाया, वो तुम करोगी। इससे मुझे हिम्मत मिली पति की शहादत के करीब 11 महीने बाद 19 दिसंबर 2019 को मैं सब इंस्पेक्टर बन गई। ट्रेनिंग 01 जनवरी 2021 से 21 फरवरी 2022 तक चली। दोनों बच्चे दीदी के पास पले।

कुछ ऐसी थी मेरी ट्रेंनिग

हमारे गांव में आज भी घूंघट की प्रथा है। ऐसे में ये सब करना किसी चुनौती से कम नहीं था। जबकि मेरे साथ ज्यादातर ऐसे ट्रेनीज थे, जो पहले से SI की तैयारी कर रहे थे। मुझे कोई विशेष छूट मिलना मुमकिन नहीं था। मुझे ज्यादा मेहनत करनी पड़ी । इसमें सबसे मुश्किल था दौड़ना और दीवार फांदना। इसके बाद भी मैंने अच्छी रेटिंग के साथ ट्रेनिंग पूरी की। और अंत में मेरे ससुर जी का सपना पूरा हो गया। मुझे कोतवाली थाने में बतौर PSI पद पर तैनाती मिल गई। बाद में दिसंबर 2022 में ये ट्रेनिंग पूरी होगी। इसके बाद RAPTC (रुस्तम जी आर्म्ड पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज) में ट्रेनिंग होगी।

ये सब मैनें सपने में भी नहीं सोचा था कि, मेरी जिंदगी में ये दिन आएगा

आपको बता दें कि, ये पूरी कहानी शाजापुर जिले के छोटे से गांव राघवखेड़ी की 33 साल की बहू पूजा सोलंकी की हैं। जिनके पति हर्षवर्धन सिंह VIP ड्यूटी के दौरान शहीद हो गए थे। पूजा MBA पास गृहिणी थीं, लेकिन कभी नौकरी का सोचा नहीं था। सरकार ने केस को विशेष मानते हुए अनुकंपा नियुक्ति के तहत पति के स्थान पर पूजा को SI बना दिया।

By : News Desk

Web Stories

Related News

Also Read