janhittimes

थाने में रेप पीड़िता का रेप करने के मामले में इंस्पेक्टर सस्पेंड, 29 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) ने अपने पहले कार्यकाल के दौरान सूबे की कानून व्यवस्था (Law and Order) पर खास ध्यान दिया। यही वजह रही कि यूपी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election) में कानून व्यवस्था बड़ा मुद्दा बनकर सामने आया और प्रदेश की जनता ने दोबारा योगी सरकार को सत्ता सौंपी। लेकिन फिर भी कुछ पुलिसकर्मी ऐसे होते है, जो खाकी को शर्मसार कर देते है। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के ललितपुर (Lalitpur) जिले का है, जहां खाकी को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। जिले के पाली थाना इंचार्ज (Station In-Charge) सहित 6 लोगों पर एक 13 साल की नाबालिग किशोरी से गैंगरेप (Gang Rape) का आरोप लगा है। मामले में इंस्पेक्टर सस्पेंड समेत 29 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर किए गए हैं।

दरअसल, जिले के पाली थाना इंचार्ज सहित 6 लोगों पर एक 13 वर्षीय नावालिग किशोरी के साथ सामूहिक रेप का आरोप लगा है। मामले में चाइल्ड लाइन की शिकायत पर पुलिस अधीक्षक ने गंभीरता दिखाते हुए पाली थाना इंचार्ज तिलक धारी सरोज सहित 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज करावाया था। मामले में सभी आरोपियों पर नाबालिग के साथ सामूहिक रेप, पोस्को एक्ट, SC /ST एक्ट सहित सुसंगत धाराओं में मुकद्दमा दर्ज कर पाली थाना इंचार्ज को सस्पेंड कर दिया गया थधा। पुलिस अधीक्षक निखिल पाठक के अनुसार, पाली थाना क्षेत्र अंतर्गत रहने वाली एक 13 वर्षीय किशोरी को उसके ही गांव में रहने वाले 4 लड़के 22 अप्रैल को बहला फुसलाकर भोपाल ले गये, जहां जाकर उसके साथ तीन दिनों तक सामूहिक रेप की घटना को अंजाम दिया गया।

एसपी निखिल पाठक के मुताबिक, नाबालिग किशोरी को उसकी मौसी के साथ चाइल्ड लाईन भेज दिया गया, जहां बच्ची ने काउंसलिंग के दौरान अपने साथ हुई पूरी घटना को बताया, जिस पर चाइल्ड लाइन की शिकायत के बाद पाली थाना इंचार्ज सहित 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज करके एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया.

सपा और कांग्रेस का योगी सरकार पर निशाना

इस मामले में सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश की बेटियों को वर्दी वालों गुंडों से बचाओ. चंदौली की घटना अभी शांत भी नहीं हुई थी कि अब ललितपुर में एक दरोगा के ऊपर आरोप लग रहा है कि 13 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म किया, सोचिए अगर उत्तर प्रदेश में रक्षक ही भक्षक बन जाएंगे तो बेटियों को न्याय कहां से मिलेगा?’

वहीं कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत ने ललितपुर घटना पर कहा कि अगर रक्षक ही भक्षक पर उतर आए तो महिला सुरक्षा का क्या होगा? 13 साल की बच्ची के साथ पुलिस बलात्कार कर रही है क्या ऐसे लोगों को सत्ता का संरक्षण है, सरकार जवाब दे।

Web Stories

Related News

Also Read