janhittimes

जोधपुर: झंडा फहराने को लेकर दो समुदायों के बीच हिंसक झड़प, पत्थरबाजी, और इंटरनेट बंद

भारत में इन दिनों सांप्रदियिक्ता की आग फैली हुई हैं, कहीं हिजाब तो कहीं हनुमान चालिसा। बस चारों तरफ आग ही आग दिखाई दे रही हैं। ईद और अक्षय तृतीया से पहले बीते सोमवार रात राजस्थान के जोधपुर में दो समुदाय में झड़प हो गई। जिसके बाद जिले में धारा 144 लागू कर दी गई, और ये विवाद बस भगवा झंडे को लेकर शुरू हुआ था।

दरअसल मामला कुछ ऐसा है कि, राजस्थान के जोधपुर में सोमवार रात को दो समुदायों के लोगों के बीच झड़प हो गई। यह झड़प जालोरी गेट चौराहे के बालमुकंद बिस्सा सर्किल पर लगे भगवा झंडे को उतारकर, उसकी जगह पर इस्लामी प्रतीक वाले झंडे फहराने से शुरू हुई। इसी बात को लेकर दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए और तनातनी इतनी बढ़ी कि आधी रात को भीषण पथराव हो गया। वहीं इस पत्थरबाजी में कई लोग चोटिल हुए हैं। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने बीच-बचाव कर भीड़ को खदेड़ना शुरू किया, लेकिन भीड़ बेकाबू हो गई थी, इसलिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इस दौरान कुछ उपद्रवी झुंडों में लाठी-डंडों से लैस होकर आए। उन्होंने रास्ते पर बैरिकेड खींच-खींचकर लगा दिए ताकि दूसरे पक्ष के लोगों का रास्ता बंद किया जा सके, फिर तो दोनों तरफ से भीषण पथराव हुआ।

इस उपद्रव के दौरान पार्क के इर्द-गिर्द लगाए गई बांस की बल्लियों की बैरिकेंडिंग उखाड़ ली गई। इस तरह काफी देर तक सड़क जंग का मैदान बनी रही। जिसके बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने tweeet किया, और कहा कि जोधपुर के जालौरी गेट इलाके में दो गुटों में झड़प से तनाव पैदा होना दुर्भाग्यपूर्ण है। प्रशासन को हर कीमत पर शांति एवं व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। जोधपुर, मारवाड़ की प्रेम एवं भाईचारे की परंपरा का सम्मान करते हुए मैं सभी पक्षों से मार्मिक अपील करता हूं कि शांति बनाए रखें एवं कानून-व्यवस्था बनाने में सहयोग करें।

घटना के बाद जोधपुर जिला प्रशासन ने तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए एहतियातन इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं…बता दें कि रात 1 बजे से जोधपुर में इंटरनेट सेवाएं ठप हैं। जोधपुर के डिविजनल कमिश्नर हिमांशु गुप्ता की ओर से जारी आदेश में पूरे जोधपुर जिले में इंटरनेट सेवा बंद की गई है. वहीं आज ईद भी मनाई जानी है, इससे पहले इस तरह के बवाल से प्रशासन के पसीने छूट गए हैं। आखिर इस हिंसा के पीछे कौन है…और देश में ये सामप्रदाइक आग कब शांत होगी…और प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत क्या फैसला लेते हैं।

Web Stories

Related News

Also Read