janhittimes

चालीसा विवाद: नवनीत राणा के वकील बोले- मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करना देशद्रोह नहीं

हनुमान चालीसा विवाद को लेकर जेल में बंद अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा को जेल का ही खाना खाना पड़ेगा। तो वहीं आज जमानत अर्जी पर सुनवाई के लिए मुंबई की सेशंस कोर्ट में स्थित एमपी-एमएलए कोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है। राणा दंपति की तरफ से वरिष्ठ वकील रिजवान मर्चेंट और आबाद पोंडा कोर्ट पहुंच चुके हैं।

चालीसा विवाद

आपको बता दें कि, मामले में राणा के वकील ने सुनवाई के दौरान कहा कि यह केस बिना बात का है। राणा दंपति चुने हुए नेता (सांसद और विधायक) हैं और कहीं नहीं भागेंगे, इसलिए उनकी आजादी उनसे नहीं छीनी जानी चाहिए। वकील ने कहा था कि पुलिस ने भी उनकी कस्टडी नहीं मांगी है, जिसकी वजह से वे अबतक न्यायिक हिरासत में हैं। दोनों की 8 साल की बेटी है। दोनों पर कुछ शर्तें लगाई जा सकती हैं लेकिन उनको आजाद किया जाना चाहिए।

इसके अलावा वकील द्वारा कई तरह के तर्क भी रखे गए। कहा गया कि राणा दंपति मातोश्री अकेले गए थे. उनके साथ कोई कार्यकर्ता भी नहीं था. हिंसा करने का कोई उदेश्य नहीं था. इसके बावजूद भी प्रदर्शन को सरकार के खिलाफ बता दिया गया. असल में विरोध प्रदर्शन तो सरकार के समर्थक कर रहे थे। यहां पर देशद्रोह जैसा कोई मामला नहीं बनता।

By : News Desk 

Web Stories

Related News

Also Read