janhittimes

Agra: अगर नहीं हटा सैकड़ों साल पुराना चामुंडा मंदिर, तो यात्रियों के लिए बंद हो जाएगा यह रेलवे स्टेशन

आगरा में राजा की मंडी रेलवे स्टेशन के परिसर से 250 साल पुराने चामुंडा देवी मंदिर को स्थानांतरित करने के लिए रेलवे द्वारा नोटिस जारी किए जाने के बाद हिंदू कार्यकर्ताओं ने सामूहिक आत्महत्या करने की धमकी दी है। मामला तब शुरू हुआ जब मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) आनंद स्वरूप ने 20 अप्रैल को मंदिर के अधिकारियों को रेलवे स्टेशन परिसर से संरचना को स्थानांतरित करने के लिए नोटिस जारी किया।

Agra

आपको बता दें कि, इस नोटिस में लिखा है, ”मंदिर को शिफ्ट करने की जरूरत है क्योंकि इससे यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है। अगर मंदिर नहीं हटाया गया तो रेलवे प्लेटफॉर्म शिफ्ट कर देगा।” तो वहीं इस नोटिस के बाद से विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इससे पहले मंदिर के महंत और श्रद्धालुओं ने भी दो टूक शब्दों में कह दिया है मंदिर नहीं हटेगा, स्टेशन कहीं भी ले जाओ।

Notice

मंदिर हटाने के विरोध में विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और बजरंग दल के कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए और डीआरएम के कार्यालय में हनुमान चालीसा का पाठ किया। महंत वीरेंद्र आनंद ने मंदिर का इतिहास बताया, महंत ने कहा- यह मंदिर 300 साल से ज्यादा पुराना है। हम मर जाएंगे लेकिन इस मंदिर की एक ईंट भी कोई नहीं हिला पाएगा।

उन्होंने कहा- डीएमआर ये नहीं जानते हैं कि यह मंदिर 2 शताब्दियों से ज्यादा समय से है। आज जो रेलवे ट्रैक है, वह अंग्रेजों ने बनाया था। कई भक्त यहां प्रार्थना करने के लिए आते हैं। स्थानीय लोग और यहां तक ​​​​कि यात्री भी ट्रेन में चढ़ते हैं या उतरते हैं तो मंदिर में प्रार्थना करते हैं। साथ ही राइट विंग के कार्यकर्ताओं ने कहा कि, अगर इसे हटाया गया तो हम सामूहिक बलिदान देंगे।

By : News Desk

Web Stories

Related News