janhittimes

UP News: अलविदा जुमा आज… लेकिन सड़कों पर नहीं पढ़ पाएंगे नमाज..गाइडलाइन जारी

भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है। यहां सभी धर्म और उसके पर्व-त्योहार को समभाव से देखा जाता है। जैसे आजकल रमजान (Ramzan/Ramadan) की रौनक बाजारों में देखने को खूब मिल रही है। इस पवित्र माह को मुसलमान अल्लाह के ईनाम के रुप में देखते है। तो वहीं रमजान में आज के दिन को बहुत खास माना जाता है। आज दोस्तों अलविदा जुमा हैं। आज की नमाज अपना अलग ही महत्व रखती है। लेकिन ऐसे में खबर मिल रही है कि, इस बार की नमाज सड़कों पर नहीं पढ़ी जाएगी।

अलविदा जुमा

 

आपको बता दें कि, सीएम योगी के निर्देशों के बाद पुलिस प्रशासन की सेंट्रल पीस कमेटी के साथ हुई बैठक के बाद जामा मस्जिद के इमाम मौलाना सैयद मोहम्मद रईस अख्तर हबीबी ने लोगों से अपील जारी की है। उन्होंने कहा है कि इस साल स्थानीय प्रशासन ने सार्वजनिक स्थल पर अलविदा नमाज़ पर रोक लगाई है। ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने बताया कि इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया ने एक एडवाइजरी जारी की है।

इसमें नमाजियों से मस्जिद के अंदर ही नमाज अदा करने की अपील की गई। ताकि नमाजियों की वजह से ट्रैफिक जाम जैसी समस्‍याएं न आएं। फिरंगी महली ने लोगों से ये भी अपील की है कि मस्जिदों में लगे लाउडस्पीकर की आवाज भी कम रहे।

एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा

वहीं, मस्जिद दारुल उलूम फरंगी महल के मौलाना सूफियान निजाम का कहना है कि लोग नमाज मस्जिद परिसर के अंदर पढ़ें न कि सड़क पर। लाउडस्पीकर्स की आवाज भी मानकों के अनुसार रखी जाए। दूसरी ओर, एडीजी (सुरक्षा और कानून व्‍यवस्‍था) प्रशांत कुमार का कहना है कि शांति और सौहार्द्र बनाए रखने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने पिछले हफ्ते ही जुमे की नमाज को लेकर दिशानिर्देश जारी किए थे, जिसके बाद पूरे प्रदेश में सुरक्षा को लेकर कड़ी नजर रखी जा रही है।

By : News Desk

Web Stories

Related News

Also Read